क्या ट्रेनों को अपग्रेड कर सुपरफास्ट करना रेलवे को कमाई का आसान जरिया दिखता है ?

जुलाई में पेश अपनी आखिरी रिपोर्ट में नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) ने सुपरफास्ट चार्ज पर रेलवे मंत्रालय को फटकार भी लगाई थी।

Piyush Goyal Breaking News आज की रिपोर्ट बड़ी ख़बरें विश्लेषण समाचार 

रेल मंत्रालय ने 48 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को अपग्रेड कर सुपरफास्ट ट्रेन का दर्जा दे दिया है।अब इन ट्रेनों से यात्रा करने पर आपको  स्लीपर के लिए 30 रुपये, सेकंड और थर्ड एसी के लिए 45 रुपये और फर्स्ट एसी के लिए 75 रुपये ज्यादा देने पड़ेंगे। गौर करने वाली…

विस्तार से