You are here

‘सांप-सपेरे’ की छवि वाला देश कहीं ‘बलात्कारियों का देश‘ ना हो जाए

Breaking News आज की रिपोर्ट पाठकों की तरफ से बड़ी ख़बरें 

हैदराबाद के शादनगर में रहने वाली 27 वर्षीय पशु चिकित्सक महिला डॉक्टर अपने घर से 30 किलोमीटर दूर साइबराबाद में एक पशु चिकित्सालय में कार्यरत थी। वह हर दिन हैदराबाद-बेंगलुरु नेशनल हाईवे स्थित टोंडुपल्ली टोल प्लाजा पर अपनी स्कूटी पार्क करती थी और वहां से कैब लेकर अस्पताल तक जाती…

विस्तार से

राहुल जी आपकी आँखों की गुस्ताखियाँ माफ हो!

Breaking News आज की रिपोर्ट पाठकों की तरफ से समाचार 

आदरणीय राहुल जी , नमस्कार   जब से मोदी सरकार के खिलाफ टीडीपी और आपकी पार्टी सहित सम्पूर्ण विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने मंजूरी दी। तब से सरकार के पक्ष में संख्या बल को देखते हुए नतीजा स्पष्ट था। जनता से लेकर मीडिया में सवाल यह नहीं था…

विस्तार से

केजरीवाल महोदय माफीनामे पर हस्ताक्षर आपके है और शर्मिंदगी हमें महसूस हो रही है

चीफ मिनिस्टर साहब आप शायद इन सारे नेताओं से माफ़ी मांग ले और यह सारे नेता आपको माफ़ भी कर दे लेकिन मानहानि केस ने आपकी 'आन' ,'मान' और 'शान' की कभी ना भरपाई करने वाली 'हानि 'कर दी है।

Open Letter to Arvind Kejriwal over his apologises to Majithia,Gadkari, Sibal in defamation cases Breaking News आज की रिपोर्ट ख़ास ख़बर पाठकों की तरफ से बड़ी ख़बरें राजनीति समाचार 

चीफ मिनिस्टर साहब आप शायद इन सारे नेताओं से माफ़ी मांग ले और यह सारे नेता आपको माफ़ भी कर दे लेकिन मानहानि केस ने आपकी ‘आन’ ,’मान’ और ‘शान’ की कभी ना भरपाई करने वाली ‘हानि ‘कर दी है। आदरणीय श्री अरविंद केजरीवाल जी, नमस्कार! महोदय आपने तीन दिन पूर्व…

विस्तार से

मोहनी की ज़िंदगी समाज की एक कड़वी सच्चाई पर प्रश्न खड़ा करती है

जहां तक मोहनी की बात है तो उसे गांववाले चंदु की पत्नी के नाम से जानते है । मोहनी को याद भी नहीं की उसे उसके नाम से अंतिम बार कब बुलाया गया था ।

आज की रिपोर्ट पाठकों की तरफ से 

जहां तक मोहनी की बात है तो उसे गांववाले चंदु की पत्नी के नाम से जानते है । मोहनी को याद भी नहीं की उसे उसके नाम से अंतिम बार कब बुलाया गया था ।यह कहानी है मोहनी और उसके पति चंदु की । मोहनी को याद भी नहीं की…

विस्तार से

आलू-भिंडी के बेमेल गठबंधन ने मुझे ज़िंदगी की बड़ी सीख दी

तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई की मुझे थुलथुले आलू के साथ पकने के लिए रख दिया। तुम्हें इल्म नहीं है की खूबसूरत चीजों के साथ कैसे बर्ताव करते है।

आलू-भिंडी का बेमेल गठबंधन Breaking News आज की रिपोर्ट पाठकों की तरफ से 

तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई की मुझे थुलथुले आलू के साथ पकने के लिए रख दिया। तुम्हें इल्म नहीं है की खूबसूरत चीजों के साथ कैसे बर्ताव करते है।मेरी शादी के बाद मुझमे एक बड़ा बदलाव हुआ। मैं जब भी किसी ‘सिंगल’ दोस्तों को देखता तो उसके लिए एक साथी ढूँढना…

विस्तार से

मुझे उस दिन ऐहसास हुआ की मानवता आज भी जिंदा है

Young Men helping Old Aged Men पाठकों की तरफ से समाचार 

मुझे शहर में आए हुए कई दिन हो गए थे लेकिन अभी भी मैं अकेला महसूस कर रहा था। यह मेरी अकेले की कहानी नहीं थी। मैं अपने आस पास के लोगो में अकेलापन देख सकता था। मैं जब भी घर से कोचिंग के लिए निकलता तो रास्ते में जाने…

विस्तार से

क्यों बिहार की सियासत इन दिनों “धुम्रपान पड़ेगा महँगा” वीडियो की याद दिला रही है ?

जब सत्ता दल ऐसी करतूत करती है तो विपक्ष के पास उसे घेरने का अच्छा मौका होता है लेकिन जब विपक्ष की कुर्सी काबिल नहीं पारिवारिक लोगो से घिरी हो तो विपक्ष ऐसे मौके पर सेल्फ गोल कर लेती है।

Breaking News आज की रिपोर्ट पाठकों की तरफ से बिहार की बड़ी ख़बरें 

जब सत्ता दल ऐसी करतूत करती है तो विपक्ष के पास उसे घेरने का अच्छा मौका होता है लेकिन जब विपक्ष की कुर्सी काबिल नहीं पारिवारिक लोगो से घिरी हो तो विपक्ष ऐसे मौके पर सेल्फ गोल कर लेती है।बिहार की सियासत इन दिनों थिएटर में फिल्म शुरू होने से…

विस्तार से

मशीनीयुग के मायाजाल से निकल कर मशीनो के बीच से ही मसीहा ढूँढना होगा

टिंडर पर क्या बोलू ! टिंडर का नाम बदल कर ऑनलाइन बुकिंग फॉर फ्री सेक्स ओनली फॉर सुन्दर लोग होता तो बेहतर होता।

आज की रिपोर्ट पाठकों की तरफ से 

टिंडर पर क्या बोलू ! टिंडर का नाम बदल कर ऑनलाइन बुकिंग फॉर फ्री सेक्स ओनली फॉर सुन्दर लोग होता तो बेहतर होता।जब इंसान हद से ज्यादा मशीनों पर भरोसा करने लगा तो मशीनों की ताकत बढ़नी लाजमी थी। मशीनों ने इंसानो को धोखा देकर और अपनी ताकत का उपयोग…

विस्तार से

अगर क्रिकेट मैदान पर ट्रैफिक पुलिस होती तो धोनी का चालान कटना तय था !

Breaking News आज की रिपोर्ट दिलचस्प ख़बरें पाठकों की तरफ से 

1 कार ,1 ड्राईवर और 11 पैसेंजर।कार के अंदर जिन्हें जगह नहीं मिली वह एक दूसरे से चिपक कर पीछे बैठ गए । जब पीछे बैठने के लिए जगह नहीं बची तो लोग कार की छत पर जा बैठे। कुछ लोग तो कार की गेट का सहारा ले कर बस…

विस्तार से

प्रधानमंत्री मोदी जी हिंसा की निंदा करने की कोई जरूरत नहीं है , आपके CM की करनी और सांसद की कथनी बिल्कुल निंदनीय नहीं है

चिंता की कोई बात नहीं है प्रधानमंत्री मोदी जी आज भी दुर्योधन और दुःशासन जैसे शिष्य हमारे देश में है जो अपने गुरु के आन ,मान और शान पर ऊँगली उठने पर विद्वंश करने से पीछे नहीं हटेंगे ।

आज की रिपोर्ट पाठकों की तरफ से बड़ी ख़बरें 

चिंता की कोई बात नहीं है प्रधानमंत्री मोदी जी आज भी दुर्योधन और दुःशासन जैसे शिष्य हमारे देश में है जो अपने गुरु के आन ,मान और शान पर ऊँगली उठने पर विद्वंश करने से पीछे नहीं हटेंगे । हरियाणा में आज वह हुआ जिसका अंदाजा पूरे देश को था…

विस्तार से