प्रधानमंत्री मोदी जी हिंसा की निंदा करने की कोई जरूरत नहीं है , आपके CM की करनी और सांसद की कथनी बिल्कुल निंदनीय नहीं है

चिंता की कोई बात नहीं है प्रधानमंत्री मोदी जी आज भी दुर्योधन और दुःशासन जैसे शिष्य हमारे देश में है जो अपने गुरु के आन ,मान और शान पर ऊँगली उठने पर विद्वंश करने से पीछे नहीं हटेंगे ।